April
August

मुझे तो अच्छा लगता है

मुझे अच्छा लगता है,  तुम्हारा यूँ बेपरवाह हो जाना, फिर वापिस लौट आना,खुद पर यूँ प्यार लुटाना, और अपने आप में खुश हो जाना  ... मुझे अच्छा लगता है,  किन्हीं बातों पर तुम्हारी बेतुकी राय होना, फिर उसका प्रमाण खोजना,  औ ...

June

तेरा साथ…

तेरे मिलने से मैं बेफ़िकर हो गयी , सारी दुनिया से मैं बेखबर हो गयी, तेरी सोहबत का असर यूँ हुआ, तेरी -मेरी बातों में ही शाम बसर हो गयी, यूँ अकेलेपन से मैं घबराती नहीं, पर तेरे साथ से मंज़िल थोड़ी आसान हो गयी, मेरी दुनिया का दायरा तुझमें सिमटा नहीं , प ...

वो मुलाकात

दौड़ती-भागती ज़िन्दगी, जिसमें एक ओर सुबह न उठने की इच्छा है, तो दूसरी ओर समय से ऑफिस पहुँचने की जल्दी भी। आजकल सुबह माँ के आवाज़ रूपी अलार्म से नहीं होती, हाँ सुबह कॉल ज़रूर आता है , जिसे कभी- कभी नींद में अलार्म समझ कर ही बंद कर देती हूँ। फिर कुछ मिनट बाद एह ...

May

फासला

न तुम मुझसे हाल-चाल पूछते हो,न मैं तुमसे कोई नयी बात...न तुम मुझे हाल- ऐ-दिल बताते हो ,न मैं तुमसे करूँ कोई दिल की बात...न तुम्हें मुझसे कोई शिकवा है,न मुझे तुम से कोई शिकायत...पर फिर भी अब बहुत कुछ अधूरा है...जो शायद पहले कभी पूरा थाकल तुम ने अचानक ही पू ...

January
September
May
April