July

असमंजस

आज लिखने को बहुत कुछ है, पर समझ नहीं आ रहा कहाँ से शिरुआत करुँ , एक अजब-सा असमंजस  है, उधेड़ -बून चल रही है यूँ दिल में,  जैसे हर एक तार थोड़ा हिल -सा गया हो।या मेरी नज़रें कुछ चकाचौंध में डूब रही हों।  ये मत समझिए की दिल  को कोई गहरा आघ ...

friend?

I dont know what kinda confusion I have regarding this so called friend effect , it seems its part of life. sometimes it seems life, or sometimes it seems end of life.Hard to understand what it is...ना दीया है ना परवाना है,न शमा है, न पैमाना है,किस राह पर ...